Saturday, August 13
Shadow

कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है | What is 5 different types of Computer Network Topology in Hindi easy learning

Share this article to your friends

कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है | What is 5 different types of Computer Network Topology in Hindi easy learning

साथियों आज इस पोस्ट में आप पढेंगे Computer Network Topology in Hindi यानि कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है | Computer network topology से ये पता चलता है कि किसी network में एक दूसरे से जुड़े हुए सभी computer आपस में किस आकृति में जुड़े है यानि computer network का structure या design कैसा है।

किसी भी computer network में व्यवस्थित सभी computers और peripheral devices को node कहा जाता है , नेट्वर्क में ये nodes  एक दूसरे के साथ कैसे जुड़े हुए हैं , ये computer network topology से ही पता चलता है

Topology  ग्रीक भाषा के 2 शब्दों topo और logy से मिलकर बना है , ग्रीक भाषा में topo का अर्थ स्थान  (place) और logy का अर्थ अध्ययन (study) होता है ।

इस प्रकार कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी, किसी नेटवर्क में उपस्थित computers और peripheral devices की आकृति को कहते हैं , network topology से ही यह तय होता है network में सभी Nodes के बीच आपस में data / information शेयरिंग कैसे होगी

(मित्रों आपसे अनुरोध है कि इस पोस्ट को लिखने से पहले मेरी पोस्ट computer network क्या होते है – wireless और wired network किसे कहते हैं , कितने प्रकार के network होते हैं , LAN MAN WAN     अवश्य पढ़े जिससे आपको network की प्रारंभिक जानकारी हो जाएगी )

नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार के होती है ?

किसी भी computer network में नेटवर्क टोपोलॉजी को physically (भौतिक रूप से) और logically (तार्किक रूप से ) बनाया और प्रयोग किया जाता है , इस प्रकार किसी नेटवर्क संरचना में एक समय में एक Physical Topology और अनेक Logical Topology बन सकते हैं।

इस प्रकार हम कह सकते है कि

network topology  2 प्रकार की होती है

Physical Topology

Logical Topology

आइये अब समझते है

Physical Topology क्या है (What is Physical Topology)

Computer network में Physical topology  में सभी computers / nodes  का एक दूसरे के साथ वास्तविक जुडाव और स्थिति का पता चलता है जैसे विभिन्न computer और peripheral devices का वास्तविक स्थान, वर्कस्टेशन और नेटवर्क बनाने में लगी केबल, स्विच,connectors आदि का भौतिक लेआउट आदि । Physical topology  में ही कंप्यूटर नेटवर्क कोड भी बनाया जाता है।

एक प्रकार से आप कह सकते हैं कि Physical Topology  में किसी भी नेटवर्क की हार्डवेयर संरचना का पता चलता है कि किसी नेटवर्क को बनाने में प्रयोग हुए हार्डवेयर एक दूसरे से कैसे जुड़े हुए हैं

Logical Topology क्या है (What is Logical Topology)

Logical Topology में ये निर्धारित किया जाता है कि एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में data flow कैसे किया जायेगा, इसे बनाते समय नेटवर्क प्रोटोकॉल ( data transfer के नियम ) , नेटवर्क मार्ग ( network path) को ध्यान में रखा जाता है और इस network में होने वाला data transfer पहले से सोचे गये ( conceptual / logical ) यानि पूर्व निर्धारित नियमों और मार्गों का अनुसरण करते हुए होता है

इसे हम ऐसे भी कह सकते है कि फिजिकल टोपोलॉजी में computer topology हार्डवेयर स्तर पर निर्धारित होती है जबकि लॉजिकल टोपोलॉजी में ये logical यानि software स्तर पर निर्धारित होती है

कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी के प्रकार

Types of computer network topology in hindi

Bus Topology 

computer network topology in hindi

bus topology

कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी में bus topology में कंप्यूटर और नेटवर्क Device  एक दूसरे के साथ एक Single Cable से एक क्रम ( order ) में जुड़े हुए होते हैं,  इसे सरल भाषा में आप ऐसे समझ सकते है कि जब आप किसी bus में चढ़ते हैं तो बीच में एक मार्ग होता है और मार्ग के दोनों ओर seats होती है ,

इसी प्रकार bus topology में भी एक सिंगल केबल के दोनों ओर computers और peripheral devices व्यवस्थित होती हैं , bus topology में data transfer एक दिशा में होता है। bus topology को मुख्यतः 802.3 (ethernet) और 802.4 standard networks के लिए प्रयोग किया जाता है

Bus Topology के लाभ (Advantage)

  • बस टोपोलॉजी में computer network कम पैसों में बन जाता है।
  • Bus Topology को बनाना अन्य topology network की तुलना में सरल होता है।
  • Bus Topology बनाने में कम केबल का प्रयोग होता है।

Bus Topology की कमियां (Disadvantage)

  • Bus Topology में यदि नेटवर्क में अधिक कंप्यूटर हों तो data transfer speed कम हो जाती है।
  • Bus Topology में यदि नेटवर्क में कोई एक भी कंप्यूटर ख़राब हो जाता है तो data transfer बंद हो जाता है।
  • इस Topology में बड़े computer network बनाना कठिन होता है।
  • Bus Topology में network बन जाने के बाद किसी भी कंप्यूटर को जोड़ना कठिन होता है।

…………………….

Ring Topology

computer network topology in hindi

ring

Ring Topology में computers और peripheral devices एक दूसरे के साथ एक circular queue structure में जुडे़ होते हैं , ये computer network गोलाकार होता है इसीलिए इसे रिंग नेटवर्क भी कहा जाता है , Ring Topology में सभी कंप्यूटर में दो Lan Card लगे होते हैं और सभी कंप्यूटर अपने अगल बगल दोनों ओर दो अन्य computers के साथ जुड़ा होता है और इस प्रकार इसमें endless loop बन जाता है ,

इस network में प्रयोग की गयी केबल के दोनों सिरे एक दूसरे से जुड़े होते है

Ring Topology के लाभ (Advantage)

  • Ring Topology में अधिक लोड होने पर अच्छी परफॉरमेंस आती  है, अच्छी स्पीड मिल जाती है।
  • Ring Topology को manage करना bus topology की तुलना में सरल होता है।
  • Ring Topology  पॉइंट टू पॉइंट configuration faults का पता लगाना सरल होता है
  • Ring Topology इंस्टालेशन में कम खर्च में हो जाता है।
  • इस topology में extra डिवाइस जोड़ना या घटाना काफी आसान है क्योंकि इसमें मात्र दो कनेक्शनों को स्थानांतरित करने की आवश्यकता पड़ती है ।

Ring Topology की कमियां (Disadvantage)

  • Ring Topology में एक खराब कंप्यूटर पूरे नेटवर्क को बंद कर सकता है।
  • इस topology में डाटा सभी computers से होकर गुजरता है इसलिए data transfer slow हो जाता है।
  • Ring Topology में समस्या निवारण करना कठिन होता है।

………………………..

Star Topology

computer network topology in hindi

star

Star topology में एक Host Computer होता है, जो network में व्यवस्थित अन्य computers के केंद्र में रहकर सभी को नियंत्रित करता है। Star topology सबसे अधिक प्रयोग की जाने वाली computer network topology  है , जिसमे central computer / switch से अन्य कंप्यूटर Ethernet Cable से जुड़े होते हैं और इस connection में सभी computers की अपनी एक अलग Cable होती है।

इस टोपोलॉजी में computers को आपस में connect करने के लिए Coaxial cable या RJ-45 cables प्रयोग की जाती है, Ethernet 100BaseT  सबसे अधिक लोकप्रिय / प्रचलित Star topology network है ,  इस टोपोलॉजी में central computer को server कहा जाता है और अन्य computers / peripheral devices को clients कहा जाता है .

इस टोपोलॉजी में बने network  High data speeds पर काम कर सकते है जैसे इसमें data transfer speed 100Mbps की हो सकती है ,

Star Topology के लाभ (Advantage)

  • Star topology में नए Nodes को central computer / switch से कनेक्ट करना आसान है क्योकि सभी कंप्यूटर central computer / switch के साथ एक अलग Cable से जुड़े होते है।
  • Star topology में यदि कोई केबल या डिवाइस काम करना बंद कर दे तो बाकि के डिवाइस पर कोई प्रभाव नही पड़ता है ।
  • Star topology अन्य topology network से कम खर्चीला होता है।
  • इस network topology में स्विच की सहायता से नेटवर्क का आसानी से manage किया जा सकता है।

Star Topology के हानि (Disadvantage)

  • Star topology network बनाने में Bus और Ring topology की तुलना में अधिक Cable लगती है।
  • इस network में यदि सेंट्रल स्विच ख़राब हो गया है तो पूरा नेटवर्क काम करना बंद कर देता है ।

………………………..

ये भी पढ़े : Computer Hardware in Hindi A 2 Z easy explanation ? – कम्प्यूटर हार्डवेयर क्या होता हैं

Mesh Topology

computer network topology in hindi

mesh topology

Mesh Topology के अनुसार बने नेटवर्क में सभी Nodes एक दूसरे से connect रहते हैं , इस topology में यदि कोई computer / device काम करना बंद कर दे तो network सही प्रकार काम करता रहता है , Mesh Topology को मुख्यतः Wireless नेटवर्क में प्रयोग किया जाता है क्योंकि इसमें कोई सेंट्रल स्विच प्रयोग नही किया जाता , Mesh topology में Number of cables = (n*(n-1))/2 प्रयोग की जाती है

Mesh टोपोलॉजी में बने network दो प्रकार के होते हैं , एक Fully Connected Mesh Topology और दूसरा Partially Connected Mesh Topology,

Fully Connected Mesh Topology में सभी कंप्यूटर एक दूसरे से जुड़े होते हैं जबकि दूसरी ओर

Partially Connected Mesh Topology में ये आवश्यक नही है की सभी कंप्यूटर एक दूसरे के साथ जुड़े हों , इस topology में अपनी आवश्यकता के अनुसार computers को एक दुसरे के साथ जोड़ा जाता है और इसीलिए इस network में कम hardware लगता है जिससे ये network Fully Connected से थोड़ा सस्ता होता है। Mesh topology  मुख्यतः WAN  network और wireless network में प्रयोग की जाती है,

Mesh Topology के लाभ (Advantage)

  • Mesh टोपोलॉजी में बने network में High Amount of Traffic को control किया जा सकता है क्योंकि इसमें कई डिवाइस एक साथ डाटा Share कर सकते है।
  • Mesh टोपोलॉजी में किसी एक Device के ख़राब होने या काम नही करने पर computer network पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है और डाटा ट्रांसमिशन होता रहता है।
  • Mesh टोपोलॉजी में बने network में अधिक दूरी पर Signals Transmit किये जा सकते हैं।
  • Mesh टोपोलॉजी में Device Add करने पर अन्य devices के बीच Data Transmission का कार्य disturb नहीं होता है।

Mesh Topology की कमियां  (Disadvantage)

  • Mesh में Installation और Maintenance कठिन होता है ।
  • यदि Fully Connected Mesh Topology का प्रयोग किया जाये तो Cabling connection अधिक होने के कारण कीमत अधिक हो जाती है
  • Mesh में सभी Nodes को हमेशा सक्रिय रहना होता है और एक दूसरे के साथ Load Share करना होता है इसलिए अधिक Power consumption होता है

…………………..

ये भी पढ़े : सभी Important Computer shortcut keys for Windows a2z asked in several EXAMINATION

Tree Topology

computer network topology in hindi

Tree topology

Tree Topology में बना network एक पेड़ के आकार जैसा होता है। इसमें star topology और bus topology दोनों के structure को अपनाया जाता है क्योंकि इसमें Star topology जैसे ही एक main host computer होता है और Bus Topology जैसे सभी local computers एक ही cable से एक निश्चित क्रम में जुडे़ होते हैं।

हम पढ़ चुके हैं कि star topology में सभी कंप्यूटर अलग-अलग Cable के द्वारा स्विच से जुड़े होते हैं और इन सभी स्विच को एक Cable के द्वारा ( Backbone Cable ) आपस में जोड़ दिया जाए तो ऐसा network tree topology वाला network कहलाता है इसीलिए इस topology को Star Bus topology भी कहा जाता है। इस टोपोलॉजी में किन्ही 2 nodes ( computers ) के बीच data transmission के लिए मात्र एक ही path होता है , ये network topology parent-child hierarchy based होती है

Tree Topology के लाभ (Advantage)

  • Tree Topology में किसी एक node के क्षतिग्रस्त होने पर दूसरा नेटवर्क प्रभावित नहीं होता है ।
  • Tree Topology में fault ढूँढना और उसे दूर करना आसान है।
  • Tree Topology में अलग-अलग Segments होते हैं जिनमे Point-to-Point cabling की जाती है इसलिए इसको Manage और Maintain करना अन्य topology की तुलना में सरल होता है।

Tree Topology की कमियां (Disadvantage)

  • Backbone Cable ( जिसमे सभी स्विच को एक Cable के द्वारा आपस में जोड़ा जाता है )  ख़राब हो जाने पर पूरा tree topology network काम करना बंद कर देता है
  • nodes के बीच cabling अधिक प्रयोग करनी पड़ती है
  • यदि अधिक कंप्यूटर प्रयोग किये जा रहे हों तो उन्हें मैनेज करना कठिन होता है।

ये भी पढ़े : computer memory in hindi with easy example 1 bit byte,ZB,Yotta byte etc

Hybrid Topology

computer network topology in hindi

hybrid topology

Hybrid Topology  में अनेक प्रकार की topology एक साथ प्रयोग की जाती हैं जैसे Bus, Star, Mesh, Ring और Tree Topology और इसीलिए इसका नाम Hybrid Topology है क्योंकि अपने नाम जैसे ही ये दो या दो से अधिक अलग- अलग प्रकार की टोपोलोजी मिलकर बनी एक mixture topology है ।

जैसे किसी एक company में बना network bus टोपोलॉजी पर आधारित है और दूसरी company में बना network ring टोपोलॉजी पर आधारित है और यदि इन दोनों companies के network को मिलाकर एक network बना दिया जाए तो वो hybrid computer network होगा

Wide Area Network जिसे हम WAN भी बोलते है , एक Hybrid Topology  में बना network होता है।

Hybrid Topology के लाभ (Advantage)

  • Hybrid Topology में अपनी आवश्यकता के अनुसार network बना सकते हैं।
  • Hybrid Topology  में बने network को सरलता से बड़ा कर सकते हैं।
  • इस Topology में fault पता लगाना और उसको दूर करना बहुत ही आसान होता है।

Hybrid Topology की कमियां (Disadvantage)

  • ये topology अन्य की तुलना में महंगी होती है।
  • अनेक प्रकार की topology प्रयोग होने के कारण इसको manage करना कठिन होता है

ये भी पढ़े : इनपुट डिवाइस किसे कहते हैं what is input device in hindi-types,full form in easy launguage

निष्कर्ष

साथियों इस पोस्ट ” कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है | What is 5 different types of Computer Network Topology in Hindi” में हमने कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी को सरल भाषा में समझाने का प्रयास किया है जिसमे आपने 5 different types of Computer Network Topology को समझा , हमें पूरी आशा है कि Computer Network Topology in Hindi आआप्को अच्छे से समझ आ गया होगा लेकिन आप इस विषय Computer Network Topology में कुछ और समझना चाहते हैं तो हमें निसंकोच comment करे , हम उस विषय को समझाने का प्रयास करेंगे ,

मेरा आप सभी से अनुरोध है की आप लोग इस जानकारी भरी पोस्ट को मित्रों में Share करें, जिससे सबको लाभ हो.

Share this article to your friends

Leave a Reply

Your email address will not be published.